news-details
Politics

नजरबंद कर दें, किसी को नुकसान नहीं होगा - चिदंबरम

 नई दिल्ली. आईएनएक्स मीडिया केस में सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कांग्रेस नेता पी चिदंबरम से कहा कि वह अंतरिम राहत के लिए संबंधित अदालत में जाएं। चिदंबरम ने अदालत से कहा कि उनकी उम्र 74 साल है, उन्हें नजरबंद किया जाए। इससे किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा। इस पर कोर्ट ने कहा कि उन्हें तिहाड़ जेल नहीं भेजा जाएगा। चिदंबरम ने दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। कोर्ट ने 20 अगस्त को उनकी अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया था। ईडी भी पूछताछ से जुड़े दस्तावेज शीर्ष अदालत की बेंच को सौंप चुका है।

 
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर ट्रायल कोर्ट चिदंबरम की जमानत याचिका खारिज कर देती है तो उनकी सीबीआई रिमांड 5 सितंबर तक बढ़ा दी जाएगी।

You can share this post!

Related News