अतुल कुशवाहा - एक संघर्षशील युवा की कहानी

अतुल कुशवाहा का बचपन दिलचस्प रहा है। उन्होंने अपनी तकनीकी शिक्षा कंप्यूटर साइंस एवं टेक्नोलॉजी (स्नातक) से पूर्ण की

लोकतांत्रिक मूल्य भारतीय स्वभाव में सदियों से निहित

भारत में लोकतंत्र का पर्व चल रहा है, दो महीने के इस पर्व में दुनिया का दसवां हिस्सा मताधिकार का प्रयोग करेगा।

कांग्रेस की बैचनी और तिलमिलाहट हार का प्रतीक

कहते है कि पराजय की आहट भर से कमज़ोर व्यक्ति बौखला जाता है तथा बैचनी और तिलमिलाहट में अनैतिक

पाकिस्तान में विखण्डन:क्या आतंकवाद के समाधान का विकल्प?

आतंकवाद आधुनिक दौर मे मानव विध्वंस की सबसे बडी समस्या बनकर उभरा है

बादल हटेगा ,अन्धेरा छटेगा ‘आर्यवर्त’ फिर खिलेगा

आर्यवर्त आर्यों का आदि देश से संबोधित किया जाता है। इस क्षेत्र को सप्तसैंधव क्षेत्र भी कहा जाता है

साध्वी प्रज्ञा जी के लिए इतना पूर्वाग्रह क्यों?

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को मध्यप्रदेश के भोपाल से दिग्विजय सिंह के खिलाफ उम्मीदवार बनाया है

सर्वग्राही विजय की ओर बढ़ते भारतीय कदम!

दूसरी जनरेशन के मिग-21 से चौथी जनरेशन के विख्यात लड़ाकू विमान F-16 को ज़मीदोज़ करने वाले भारतीय वायु सेना के बहादुर विंग कमांडर अभिनंदन!

भाजपा या कांग्रेस ही दे सकती है देश को स्थिर और मजबूत सरकार

यह बात विवाद से परे है कि देश के उत्तरोत्तर वृद्धि लिए स्थिर सरकार का होना अति आवश्यक है

यह जो भारत है ना !

चिर सनातनी सभ्यता ,संस्कृति जो प्रगाढ़ प्राकृतिक वैज्ञानिक नियमों के अंतर्गत जीती हुई आगे बढ़ी है

कैसे पेपर परीक्षा से पहले ही लिक हो जाता है ?

कैसे पेपर परीक्षा से पहले ही लिक हो जाता है ?

वैश्वीकरण या साम्राज्यवाद

वैश्वीकरण या साम्राज्यवाद

मोदी युग में नया भारत

“स्वामी विवेकानंद ने कहा था फ़िलहाल यह आपकी सदी है लेक़िन 21वीं सदी भारत की होगी”

सनातनी vs आधुनिक शिक्षा

किसी भी समाज या देश की रीड की हड्डी वहां की शिक्षा व्यवस्था होती है। शिक्षा ही यह तय करती है कि यह देश यह समाज किस दिशा में जाएगा। यह उन्नति के रास्ते पर अग्रसारित होगा या अवसान का मार्ग चुनेगा।

मंदिर vs शिक्षा व् रोज़गार

"मंदिर मस्जिद ना मीनार चाहिए, हर बालक को शिक्षा हर जवान को रोजगार चाहिए"

प्रभावी बनती आयुष्मान भारत योजना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 23 सितंबर, 2018 को रांची से शुरू की गई आयुष्मान भारत राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना को अब दो महीने से अधिक हो चुके हैं.